POEMS

Sarojini Naidu Poems in Hindi || सरोजिनी नायडू की 5 लोकप्रिय कविता

Sarojini Naidu Poems in Hindi:- नमस्कार दोस्तों आज हम आप सभी के लिए एक ऐसे महान इंसान की कविताएं लाये है। जिन्होके बारे में जानना आपके लिए जरुरी है। आज की हमारी पोस्ट में आप को महान कवियत्री सरोजिनी नायडू के बारे में वे उन्होकी कुछ प्रसिद्ध कविताओं से अवगत करवाया जाएगा। जैसा की आप सभी जानते है। की सरोजिनी नायडू एक कवियत्री होने के साथ साथ एक महान वे प्रसिद्ध कवी भी थी इन्होने अपने जीवन की पहली कविता 8 साल की उम्र में लिखी थी। सरोजिनी नायडू ने अपनी प्रसिद्ध कविताओं के माध्यम से कई पुरुस्कार और अवॉर्ड जीते। वे आज भी इन्होकी कविता काफी प्रसिद्ध है। तो आइये महान कवियत्री कवी सरोजिनी नायडू के जीवन के बारे में कुछ रोचक बाते जानते है। 

सरोजिनी नायडू जीवन परिचय- दोस्तों सरोजिनी नायडू का जन्म 13 फरवरी 1879 को हैदराबाद में हुआ था। ये एक महान कवियत्री होने के साथ साथ एक समाज सुधारक भी थी। इन्होने अपने बल वे अपनी कविताओं के माध्यम से इस दुनिया में अपनी छाप छोड़ी। ये एक ऐसी महान कवियत्री हुई की इन्होका नाम वे इन्होकी कविताये आज भी सम्मान लोगो के महुँ पर रहती है। इन्होका निधन 2 मार्च 1949 को लखनऊ में हुआ था। तो आइये जानते है इस महान कवियत्री की कुछ प्रसिद्ध कविताएं।

Sarojini Naidu Poems in Hindi – सरोजिनी नायडू की कविता 

sarojini naidu poetry in hindi

भारत देश है हमारा बहुत प्यारा,
सारे विश्व में है यह सबसे न्यारा,
अलग-अलग हैं यहां सभी के रूप रंग,
पर सुर सब एक ही गाते,
झंडा ऊंचा रहे हमारा,
हर परदेश की है यहाँ अलग एक जुबान,
पर मिठास कि है सभी में शान,
अनेकता में एकता को पिरोकर,
सबने हाथ से हाथ मिलाकर देश संवारा,
लगा रहा है अब भारत सारा,
“हम सब एक हैं” का नारा,
भारत देश है हमारा बहुत प्यारा,
सारे विश्व में है यह सबसे न्यारा||


poems of sarojini naidu in hindi

क्या यह जरूरी है कि मेरे हाथों में
अनाज या सोने या परिधानों के महंगे उपहार हों?
ओ ! मैंने पूर्व और पश्चिम की दिशाएं छानी हैं
मेरे शरीर पर अमूल्य आभूषण रहे हैं
और इनसे मेरे टूटे गर्भ से अनेक बच्चों ने जन्म लिया है
कर्तव्य के मार्ग पर और सर्वनाश की छाया में
ये कब्रों में लगे मोतियों जैसे जमा हो गए।
वे पर्शियन तरंगों पर सोए हुए मौन हैं,
वे मिश्र की रेत पर फैले शंखों जैसे हैं,
वे पीले धनुष और बहादुर टूटे हाथों के साथ हैं
वे अचानक पैदा हो गए फूलों जैसे खिले हैं
वे फ्रांस के रक्त रंजित दलदलों में फंसे हैं
क्या मेरे आंसुओं के दर्द को तुम माप सकते हो
या मेरी घड़ी की दिशा को समझ करते हो
या मेरे हृदय की टूटन में शामिल गर्व को देख सकते हो
और उस आशा को, जो प्रार्थना की वेदना में शामिल है?
और मुझे दिखाई देने वाले दूरदराज के उदास भव्य दृश्य को
जो विजय के क्षति ग्रस्त लाल पर्दों पर लिखे हैं?
जब घृणा का आतंक और नाद समाप्त होगा
और जीवन शांति की धुरी पर एक नए रूप में चल पड़ेगा,
और तुम्हारा प्यार यादगार भरे धन्यवाद देगा,
उन कॉमरेड को जो बहादुरी से संघर्ष करते रहे,
मेरे शहीद बेटों के खून को याद रखना!


famous poem by sarojini naidu – सरोजिनी नायडू की कविता हिंदी में 

मैं सोच भी बदलता हूं,
में नजरिया भी बदल ता हूं,

मिले ना मंजिल मुझे,
तो में उसे पाने का जरिया भी बदलता हूं,

बदलता नहीं अगर कु,
तो मैं लक्ष्य नहीं बदलता हूं,
उसे पाने का पक्ष नहीं बदलता हूं|


sajojini naidu ki kavita – हिंदी में सरोजिनी नायडू की कविता 

हर परदेश की है यहाँ अलग एक जुबान,

पर मिठास कि है सभी में शान,

अनेकता में एकता को पिरोकर,

सबने हाथ से हाथ मिलाकर देश संवारा,


लगा रहा है अब भारत सारा,

“हम सब एक हैं” का नारा,

भारत देश है हमारा बहुत प्यारा,

सारे विश्व में है यह सबसे न्यारा||


sarojini naidu best poems in hindi

बदलता नहीं अगर कु,

तो मैं लक्ष्य नहीं बदलता हूं,

उसे पाने का पक्ष नहीं बदलता हूं|


हर परदेश की है यहाँ अलग एक जुबान,

पर मिठास कि है सभी में शान,

अनेकता में एकता को पिरोकर,

सबने हाथ से हाथ मिलाकर देश संवारा,


लगा रहा है अब भारत सारा,

“हम सब एक हैं” का नारा,

भारत देश है हमारा बहुत प्यारा,

सारे विश्व में है यह सबसे न्यारा

सरोजिनी नायडू की कविताएं – Poem on Sarojani Naidu in Hindi

बचपन में मां नारी का किरदार निभाया है,
उसने ही तो हमे ठीक से चलना, बोलना और पढ़ना सिखाया है,
उम्र जैसे बढ़ी तो पत्नी ने नारी का रूप दिखाया है,
उसने हर परिस्थिति में हमे डटकर लड़ना सिखाया है,
फिर बेटी ने नारी का रूप अपनाया है,
दुनिया से प्यार करना सिखाया है,
और तो क्या ही लिखूं मैं नारी के सम्मान में,
हम सब तो खुद ही गुम हो गए हैं अपने ही पहचान में

In 1905, Sarojini Naidu met Mahatma Gandhi and became an active member of the Indian National Congress. She participated in the Quit India Movement and was jailed for her participation. Naidu was a gifted poet and wrote many famous poems like ‘The Broken Wing’, ‘The Bird of Time’ and ‘In the Bazaars of Hyderabad’. Her poetry was inspired by the people and the culture of India. Sarojini Naidu was also a political leader and worked for the emancipation of women and the poor. She was appointed as the Governor of Uttar Pradesh in 1947, becoming the first woman to hold such a position in India. Here we have posted some famous poem of sarojini naidu i hope you likhe this poem poem of sarojini naidu, sarojini naidu poems, poems of sarojini naidu, sarojini naidu poems in Hindi.


दोस्तों में उम्मीद करता हूँ की हमारा आजका लेख Sarojini Naidu Poems in Hindi पर पढ़ कर आपको मजा आया होगा। अगर आपको सरोजिनी नायडू की सरोजिनी नायडू की कविता इन हिंदी प्रसिद्ध कविताएं अच्छी लगी है। तो आप इन्हे शेयर करना ना भूले। और है अगर हमारी पोस्ट से लेकर आपका कोई सवाल है। तो आप हमसे कमेंट में पूछ सकते है।

Hindi Family

Today Hindi Family is a team of competent people who have written a leading blog. The purpose of which is only to bring the information of every category to all of you. It focuses on the goal of providing you with the best information possible with its team

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button