POEMS

Poem on Sun in Hindi || सूरज पर दिल छू जाने वाली कविताये

poem on sun in hindi:- नमस्कार, दोस्तों आज हम आप सभी के लिए सूरज पर कविता लाये है। आजकल स्कूल में छोटे बच्चो को सूरज पर कविता या सूरज के ऊपर कविता लिखने का कार्य दिया जाता है। वे सभी बच्चे इस कविता को अपने कार्य के लिए ले सकते है। जैसा की आप सभी जानते है की सूरज के बिना हमारा जीवन बिलकुल अधूरा है। इससे हमे रौशनी प्राप्त होती है ऊर्जा प्राप्त होती है। साफ़ शब्दों में कहाँ जाए तो इसके बिना हमरा जीवन बिलकुल अधूरा है। अगर सूरज की किरण धरती पर एक दिन भी नहीं पड़ी तो ये पल भर में बर्फ का गोला भी बन सकता है। इसलिए आज हम आज सभी बच्चो के लिए सूर्योदय पर कविता का एक शानदार संग्रह आपके साथ शेयर करने जा रहे है। मुझे उम्मीद है की आपको हमारी पोस्ट जरूर पसंद आएगी। 

poem on sun in hindi – सूरज पर कविता इन हिंदी 

सूरज के ऊपर कविता 

रोज सुबह को सूरज आकर,

सबको सदा जगाता है।

शाम हुई लाली फैलाकर,

अपने घर को जाता है।

दिनभर खुद को जला-जलाकर,

यह प्रकाश फैलाता है।

उसका जीना ही जीना है,

जो काम सभी के आता है।

Suraj poem on sun in hindi – सूर्योदय पर कविता 

सबसे तेज वाला आग का एक बड़ा गोला है।

इससे जन जीवन है।

वरना धरती बर्फ का गोला है॥

इससे मिलती है ऊर्जा,

इससे मिलती है प्रेरणा,

इसको मानते हैं देवता,

इसकी होती है अर्चना॥

हमारे शौर मंडल का सबसे बड़ा तारा।

हाँ, ये तो है सूरज हमारा॥

 suraj poem in hindi

आँगन में काई है,

दीवारें चिकनीं हैं, काली हैं,

धूप से चढ़ा नहीं जाता है,

ओ भाई सूरज! मैं क्या करूँ?

मेरा नसीबा ही ऐसा है!खुली हुई खिड़की देखकर

तुम तो चले आए,

पर मैं अँधेरे का आदी,

अकर्मण्य…निराश…

तुम्हारे आने का खो चुका था विश्वास।पर तुम आए हो–स्वागत है!

स्वागत!…घर की इन काली दीवारों पर!

और कहाँ?

हाँ, मेरे बच्चे ने

खेल खेल में ही यहाँ काई खुरच दी थी

आओ–यहाँ बैठो,

और मुझे मेरे अभद्र सत्कार के लिए क्षमा करो।

देखो! मेरा बच्चा

तुम्हारा स्वागत करना सीख रहा है।

poem on sunset in hindi – चंदा मामा कविता 

सूरज निकला आसमान में,

ऊर्जा का भंडार भी साथ में लाएं

रोशन हो गया जग सारा,

अंधेरा हो गया कहीं गुम सारा

खुद जलता पृथ्वी को रोशन करता,

घर आंगन में खुशहाली लाता

जीवन का बन रक्षक,

रोज प्राणियों को ऊर्जा से नहलाता

अपनी उर्जा से वाष्प बना बादल बनाता,

जल को पूरी धरती पर फैलाता

बीमारियों को दूर भगा कर,

करता हर पल जीवन की रक्षा

गर्मियों में करता तेज धूप की बारिश,

लेकिन इसके पीछे भी छुपा, इसका एक नेक मकसद

सर्दियों में अपनी किरणों से राहत का मरहम लगाता,

खुद जलता, नहीं करता अपनी चिंता

सूरज निकला आसमान में,

साथ में जीवन का पैगाम लाया

short poem on sun in hindi – सूरज आया सूरज आया कविता 

आज मैंने सूर्य से बस ज़रा सा यूँ कहा

‘‘आपके साम्राज्य में इतना अँधेरा क्यूँ रहा ?’

’तमतमा कर वह दहाड़ा—‘‘मैं अकेला क्या करूँ ?

तुम निकम्मों के लिए मैं ही भला कब तक मरूँ ?

आकाश की आराधना के चक्करों में मत

पड़ोसंग्राम यह घनघोर है, कुछ मैं लड़ूँ कुछ तुम लड़ो।’’

poem on sun in hindi:- दोस्तों में आशा करता हूँ की आपको हमारी सूरज पर लिखी कविता poem on sunset in hindi, suraj poem in hindi पर पढ़कर बेहद मजा आया होगा। ये कविताये ख़ास हमने आप सभी बच्चो के लिए लिखी है ताकि आप इस पृथ्वी पर सूरा के महत्व को समझ सके। आप ये पोस्ट अपने छोटे भाई को जरूर शेयर करना ताकि उसकी थोड़ी सहायता हो सके। धन्यवाद। 

Hindi Family

Today Hindi Family is a team of competent people who have written a leading blog. The purpose of which is only to bring the information of every category to all of you. It focuses on the goal of providing you with the best information possible with its team

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button